[pj-news-ticker scroll_speed="0.15"]
Breaking News
Home / हमारी बात

हमारी बात

बच्चों को रखें उनके दादा- दादी के साथ और देखें असर

अपने दादा-दादी के साथ गुजारे हुए पल, हमारी जिंदगी के सबसे यादगार पलों में से एक होते है। दादा-दादी या नाना-नानी का होना बच्चे के बचपन को सुखद बनाने में एक बड़ी भूमिका निभाता है। ऐसे बच्चे, जो अपने दादा-दादी या नाना-नानी के साथ रहते हैं, उनमें एक अलग तरीके …

Read More »

जानिए क्या है पाला, पाला से फसलों को कैसे बचाते हैं किसान

Report:विनोद कुमार शीतकाल में आमतौर पर राते लंबी होती हैं और ज्यादा ठंडी होती है। कई बार तापमान हिमांक या इससे नीचे भी चला जाता है। ऐसी स्थिति में जलवाष्प बिना द्रव रूप में परिवर्तित हुए सीधे सूक्ष्म हिमकणों में परिवर्तित हो जाता है। इसे पाला कहते हैं। पाला फसलों …

Read More »

Children day special: बालक मन

बालक मन! की व्यथा निराली कहता है मुझसे प्यार कर। कहता है मुझसे प्यार कर।। नहीं चाहिए धन दौलत, ना तो, मैं चाहूं तेरा घर, बस मां का आँचल दे दो तुम, जिसमे सोऊ, मैं रातभर। मुझे प्यार कर, बस प्यार कर।। मन में न द्वेष न कपट किसी से, …

Read More »

ज़िन्दगी में सुकून अपनों के साथ से मिलता है

याद रहे, सुकून कभी पैसों से नहीं खरीदा जा सकता, झगड़े किस घर में नहीं होते, लेकिन रिश्तों को सही तरह से निभाने और समझने के लिए कठिन परिश्रम करना पड़ता है । फिर जब सारे रिश्ते एक होकर एक दूसरे की साहयता करें तो हर इंसान सुख का अनुभव …

Read More »

आखिर सिकन्दरपुर क्षेत्र की उपेक्षा क्यों?

सिकंदरपुर क्षेत्र वासियों को बहुत आशा था कि उनके क्षेत्र को एक मंत्री मिलने जा रहा है, लेकिन कैबिनेट के विस्तार होने पर क्षेत्र से क्षेत्रीय विधायक संजय यादव का नाम मंत्री पद के लिए नहीं आने पर क्षेत्र के लोगों में मायूसी व्याप्त है। जहां पिछले दिनों तक लोगों …

Read More »

लोकसभा क्षेत्र सलेमपुर से कौन होगा अगला सांसद

2019 के लोकसभा चुनावों की घोषणा हो चुकी है। सभी दल अपने आप को मजबूत स्थिति मे लाने के लिए और चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। देश के एक एक  लोकसभा सीटों पर किसको उम्मीदवार घोषित किया जाए इसको लेकर के पर्याप्त …

Read More »

बचपन में हमने भी बाबूजी के कई जूते खाए हैं

भारतखंडे आर्यावर्ते जूता पुराणे प्रथमो अध्याय। मित्रों! आजकल जूता यानी पादुका संस्कृति हमारे संस्कार में बेहद गहरी पैठा बना चुकी है। इसकी बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए हम आपको इसकी महत्ता बताने जा रहे हैं। कहते हैं कि जूता है तो सबकुछ मुमकिन है। हमारी देशी-विदेशी राजनीति में जूते का …

Read More »

वतन लौटने के साथ ही अभिनंदन के शौर्य की कहानी भारतीय सेना के इतिहास में अमर हो गई

डेस्क। आखिरकार पाकिस्तान को भारत के वीर सपूत विंग कमांडर अभिनंदन को 59 घंटे बाद भारत को सौंपना ही पड़ा। रात 9.21 बजे वतन लौटने के साथ ही अभिनंदन के शौर्य की कहानी भारतीय सेना के इतिहास में अमर हो गई। अभिनंदन जब लौटे तो उनके चेहरे और हावभाव को …

Read More »

घातक साबित हो रहा है डीजे की तेज अवाज

सिकन्दरपुर, 10 नवम्बर। डीजे का तेज आवाज भी किसी का हालत गम्भीर करने में सहायक या जानलेवा साबित हो सकता है। इसका उदाहरण शुक्रवार को देर शाम थाना क्षेत्र के मठिया गांव में उस समय देखने को मिला। जब लक्ष्मी पूजन के अवसर पर बजाए जा रहे डीजे की तेज …

Read More »

शिक्षक दिवस पर विशेष रिपोर्ट

सन्तोष कुमार शर्मा वास्तव में शिक्षक दिवस, पूरे भारत में, विद्यार्थियों के लिए सबसे सम्मानपूर्ण अवसर है, जब वो अपने शिक्षिकों को उनके द्वारा प्रदान किए गए ज्ञान के रास्ते के लिये, उन्हें आभार प्रकट करते हैं। यह आज्ञाकारी छात्रों के द्वारा अपने शिक्षकों को सम्मान देने के लिए मनाया …

Read More »