Home / साहित्य संगम

साहित्य संगम

“संविधान, आरक्षण और राष्ट्रवाद” विषयक विचार गोष्ठी संपन्न

सिकन्दरपुर। क्षेत्र के जी बी जी कान्वेंट स्कूल, घुरी बाबा के टोला के प्रांगण में मंगलवार को डॉ भीमराव जयंती के उपलक्ष्य में “संविधान,आरक्षण और राष्ट्रवाद”विषयक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस में वक्ताओं ने बेरोजगारी,भ्र्ष्टाचार और भेद भाव पर जहां जम कर भड़ास निकाला। साथ ही राजनीति को …

Read More »

न चिठ्ठी न संदेश, न जाने कौन सा देश जहां तुम चले गए…

@ इमरान खान सिकन्दरपुर,9 मार्च। नहीं रहे मशहूर शायर व रिटायर्ड अध्यापक रहबर सिकन्दरपुरी आज उनकी नमाज़े जनाज़ा 2 बजे दिन में अदा होगी। नगर के मोहल्ला डोमनपुरा निवासी रिटायर्ड अध्यापक व मशहूर शायर रहबर सिकन्दरपुरी का लम्बी बीमारी के बाद 70 वर्ष के उम्र में उनका देहांत शुक्रवार की …

Read More »

सिवनकला में पैदा हुए रसिया मजीद सभी के प्रेरणास्रोत थे: रिजवी

सिकन्दरपुर, 15अक्टूबर। प्रसिद्ध शायर रसिया मजीद व असरार की याद में क्षेत्र के सिवनकलां गांव में रविवार की रात में आयोजित रसिया महोत्सव में उनके शागिर्दों, दीगर शायर व कवियों सहित श्रोताओं की काफी भीड़ रही। कवियों व शायरों ने अपने प्रस्तुति के माध्यम से न केवल रसिया व असरार …

Read More »

मनाई गई भिखारी ठाकुर की 47वीं पुण्य तिथि

बलिया। अखिल भारतीय विकास संस्कृति साहित्य परिषद शाखा बलिया के तत्वावधान ने आनंदनगर स्थित कार्यालय पर भिखारी ठाकुर की 47वी पुण्य तिथि के अवसर पर डॉ आदित्य कुमार अंशु की अध्यक्षता में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बिलासपुर छत्तीसगढ़ से मुख्य अतिथि के रूप में पधारे …

Read More »

“मानवता” पर भोला सिंह की शानदार कविता

मानवता के लिए मरें, तो ही मनुष्य कहलाऐंगे। सबके सुख-दुख बाट सके, तो ही मनुष्य कहलाऐंगे। सच्चाई को समझे एवं, दुख से मुँह ना मोड़े हम। साथी सबको मान सके, तो ही मनुष्य कहलाएंगे। झुठी है ये माया सारी, जान सको तो जान ही लो। छोटा-बड़ा अमीर-गरीब, सच ये तो …

Read More »

बलिया की माटी ने खो दिया एक कीमती हीरा

चमकी पानी गिरने का डर है, वे क्यों भागे जाते हैं जिनके पास घर है, वे क्यों चुप हैं जिनको आती है भाषा, वह क्या है जो दिखता है धुआं-धुआं सा.. नुरुल होदा खांन की एक विशेष रिपोर्ट इस पंक्ति को रचने वाले सुप्रसिद्ध कवि केदारनाथ सिंह अब हमारे बीच …

Read More »

23 मार्च को आयोजित होगा कविसम्मेलन

बलिया- शहीद भगत सिंह,सुखदेव,राजगुरु की शहादत दिवस पर 23 मार्च को गड़वार बाजार स्थित रामलीला मंच पर प्रत्येक वर्ष की भांति ‘पूर्वांचल कवि सम्मेलन’ आयोजित है।आयोजक बब्बन सिंह ‘बेबस’ ने बताया कि इसमें जनपद के अतिरिक्त अन्य जगहों के कवि शिरकत करेंगे।इसमे डॉ विनोद मिश्र ‘कैमुरी’ (बिहार),डॉ ज्ञान चंद द्विवेदी …

Read More »

खुश रहने को मैं सोचता हूँ…

बचपन में सबका प्यार मिला, हर पल खुशियों का भंडार मिला। अब वह बचपन मैं खोजता हूँ, खुश रहने को मैं सोचता हूँ। अपनो का ऐसा प्यार मिला, जीवन को फिर श्रृंगार मिला। वो दिन फिर से मैं चाहता हूँ, खुश रहने को मैं सोचता हूँ। वह दिन थे, जब …

Read More »

भोजपुरी के उत्थान को गंभीर प्रयास की जरुरत : अनारी

बलिया- केंद्र सरकार विलुप्त हो रही क्षेत्रीय भाषाओं के प्रति चिंतित नजर आ रही है केवल चिंता करने से ही भाषाओं का कल्याण होने वाला नहीं है। भाषाओं के बेहतरी के लिए गंभीरता से प्रयास करने की जरूरत है। इन्हीं भाषाओं में एक भोजपुरी भाषा भी है जिसकी उपेक्षा से …

Read More »

भ्रष्टाचार आतंक के अंत हवे, भाईचारा दिखे सत्यजीवन में, सुख शांति सजे हर आंगन में 

सिकंदरपुर- क्षेत्र के बंशीबाज़ार गांव में आयोजित कवि सम्मेलन में कवियों ने अपनी रचनाओं के माध्यम से जहाँ भ्रष्टाचार व सामाजिक बुराइयों पर करारा प्रहार किया, वहीं  श्रोताओं में राष्ट्र प्रेम का जज़्बा भरा ।कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए मुख्यअतिथि समाजसेवी बालकृष्ण यादव ने कहा कि कवि अपनी मानसिक व …

Read More »
Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.