[pj-news-ticker scroll_speed="0.15"]
Breaking News
Home / राष्ट्रीय ख़बर / फांसी के लिए 22 जनवरी की तारीख मुकर्रर

फांसी के लिए 22 जनवरी की तारीख मुकर्रर

निर्भया गैंगरेप के दोषियों के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार शाम 4 बजकर 45 मिनट पर डेथ वारंट जारी कर दिया है। मुकेश, पवन, विनय और अक्षय की फांसी के लिए 22 जनवरी की तारीख मुकर्रर की गई है। कोर्ट ने कहा कि इस बीच चाहें तो बचे हुए कानूनी विकल्प का इस्तेमाल कर सकते हैं। चारों दोषियों को बुधवार यानी 22 जनवरी सुबह 7 बजे फां’सी दी जाएगी। आज सुनवाई के दौरान सबसे पहले वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग से तिहाड़ के जेल नंबर 4 से विनय को पेश किया गया। वहीं, जेल नंबर 2 से अक्षय, मुकेश और पवन को पेश किया गया। सुनवाई के दौरान मीडिया को कोर्ट रूम से बाहर भेज दिया गया।अदालत के फैसले के बाद दोषियों के वकील एपी सिंह का कहना है कि हम सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दायर करेंगे। कोर्ट से न्याय मिलने के बाद पीड़िता की मां ने कहा, ‘मेरी बेटी को न्याय मिला है। 4 दोषियों की सजा देश की महिलाओं को सशक्त बनाएगी। इस फैसले से न्यायिक प्रणाली में लोगों का विश्वास मजबूत होगा।’अपराधियों में डर पैदा होगा। वहीं, निर्भया के पिता ने कहा, “मैं अदालत के फैसले से खुश हूं। दोषियों को 22 जनवरी को सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी। इस फैसले से ऐसे अपराध करने वाले लोगों में डर पैदा होगा।” दरअसल, इससे पहले कोर्ट ने अभियोजन, निर्भया के माता-पिता के वकील और बचाव पक्ष के वकीलों को सुनने के बाद मामले पर अपना फैसला दोपहर 3.30 बजे तक सुरक्षित रख लिया था। अदालत को ये तय करना है कि आज डेथ वारंट जारी किया जाए या दोषियों को क्‍यूरेटिव याचिका दाखिल करने के लिए समय दिया जाए। इससे पहले तिहाड़ जेल प्रशासन ने अदालत में स्‍टेटस रिपोर्ट दायर की थी। सरकारी वकील की तरफ से अदालत में बताया गया कि दोषियों की कोई दया याचिका लंबित नहीं है। दोषियों की पुनर्विचार याचिका खारिज हो चुकी है। डेथ वारंट जारी करना मामले का अंत नहीं होगा। वहीं, निर्भया के परिजनों के वकील ने कहा कि डेथ वारंट जारी करने में कोई बाधा नहीं है। लिहाजा वारंट जारी किया जाना चाहिए और विकल्‍पों के लिए 14 दिनों की समयसीमा का भी अनुपालन किया जाना चाहिए। लेकिन हमारी मांग है कि डेथ वारंट जारी किया जाए।

Share with :
Sikanderpur Live Welcomes You.....

About सिकन्दरपुर LIVE

Check Also

वंदे भारत ट्रेन में बासी खाना देने पर एक लाख रु. का जुर्माना

वंदे भारत में बासी खाना वितरित करने वाले सेवा प्रदाता को कारण बताओ नोटिस जारी …