[pj-news-ticker scroll_speed="0.15"]
Breaking News
Home / हमारी बात / बच्चों को रखें उनके दादा- दादी के साथ और देखें असर

बच्चों को रखें उनके दादा- दादी के साथ और देखें असर

अपने दादा-दादी के साथ गुजारे हुए पल, हमारी जिंदगी के सबसे यादगार पलों में से एक होते है। दादा-दादी या नाना-नानी का होना बच्चे के बचपन को सुखद बनाने में एक बड़ी भूमिका निभाता है। ऐसे बच्चे, जो अपने दादा-दादी या नाना-नानी के साथ रहते हैं, उनमें एक अलग तरीके की समझ और एक खास किस्म की संवेदनाएं होती हैं। ऐसे बच्चे हमशा खुश, मिलनसार और चीजों को बांटकर इस्तेमाल करने वाले होते हैं। इनमें परिवार में रहने और सभी की भावनाओं की कद्र करने की खास कला होती है। पर आज जिस तरह शहर बढ़ रहा है और हमारे कमरे छोटे पड़ रहे हैं, लोग अकेले हो रहे हैं। सब अपनी एक छोटी सी फैमिली में रहते हैं, जिनमें दादा-दादी या नाना-नानी मेहमान बन कर रह जाते हैं। पर आपको पता है कि सांइस के अनुसार-आपको अपने बच्चों को अपने मां-बाप के साथ ही रखना चाहिए। साइंस की मानें, तो जो बच्चे अपने दादा-दादी या नाना- नानी के साथ रहते हैं, वो बाकी अकेले रहने वाले बच्चों से काफी अलग होते हैं।

Share with :
Sikanderpur Live Welcomes You.....

About सिकन्दरपुर LIVE

Check Also

आखिर सिकन्दरपुर क्षेत्र की उपेक्षा क्यों?

सिकंदरपुर क्षेत्र वासियों को बहुत आशा था कि उनके क्षेत्र को एक मंत्री मिलने जा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *